Sustainable Development Goals, SDG, India Spots to Rank 117 United Nations | 17 सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स में 2 स्थान खिसककर 117वें नंबर पर पहुंचा, नेपाल-बांग्लादेश से भी खराब प्रदर्शन


  • Hindi News
  • Business
  • Sustainable Development Goals, SDG, India Spots To Rank 117 United Nations

नई दिल्ली9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना की वजह से इकोनॉमी के मसले पर लड़खड़ा रहा भारत अब बेहतर जीवन से जुड़े मामलो में भी पिछड़ रहा है। ​​​​यूनाइटेड नेशंस के 193 देशों की ओर से अपनाए गए 17 सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) की ताजा रैंक में भारत 2 स्थान खिसककर 117वें नंबर पर आ गया है। UN के सदस्य देशों ने 2015 में इन 17 SDG को स्वीकार किया था। इन लक्ष्यों को 2030 तक पूरा करने का टारगेट तय किया गया है।

इन वजहों से गिरी भारत की रैंकिंग
2021 की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि भारत प्रमुख चुनौतियों जैसे भुखमरी को खत्म करना और फूड सिक्योरिटी को हासिल करना (SDG2), लैंगिक समानता (SDG5), लचीले बुनियादी इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण, इन्क्लूसिव एंड सस्टेनेबल इंडस्ट्रियलाइजेशन को बढ़ावा देना और इनोवेशन को बढ़ावा देने (SDG9) की कसौटी पर खरा नहीं उतरा है।

इन्हीं कारणों से भारत की रैंकिंग गिरी है। 2021 में भारत का कुल SDG स्कोर 100 में से 61.9 पॉइंट रहा है। इस मामले में भारत भूटान, नेपाल, श्रीलंका और बांग्लादेश जैसे देशों से भी पिछड़ गया है।

बिहार और झारखंड सबसे ज्यादा पीछे
रिपोर्ट में देश के राज्यों की तैयारियों का भी ब्योरा दिया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, 2030 तक SDG के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए बिहार और झारखंड की तैयारियां सबसे पीछे हैं। झारखंड 5 SDG में और बिहार 7 SDG में पिछड़ा हुआ है। SDG के लक्ष्यों को तय समय पर पूरा करने को लेकर केरल, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ सही दिशा में काम कर रहे हैं।

इन 17 SDG पर काम कर रहे हैं सभी देश

  • SDG1 गरीबी नहीं
  • SDG2 भूखमरी खत्म
  • SDG3 गुड हेल्थ
  • SDG4 क्वॉलिटी एजुकेशन
  • SDG5 जेंडर इक्वलिटी
  • SDG6 साफ पानी और सफाई
  • SDG7 ग्रीन एनर्जी
  • SDG8 अच्छा काम और आर्थिक विकास
  • SDG9 इंडस्ट्री, इनोवेशन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर
  • SDG10 असमानता में कमी
  • SDG11 स्थायी शहर और समुदाय
  • SDG12 खपत और उत्पादन
  • SDG13 क्लाईमेट
  • SDG14 जलीय जीवन
  • SDG15 जमीन पर जीवन
  • SDG16 पीस एंड जस्टिस
  • SDG17 लक्ष्यों को पूरा करने के लिए ग्लोबल भागीदारी को मजबूत करना

एनवायरनमेंटल परफॉर्मेंस इंडेक्स में भारत की 168वीं रैंक
रिपोर्ट के मुताबिक, एनवायरनमेंटल परफॉर्मेंस इंडेक्स (EPI) में भारत की 180 देशों में 168वीं रैंक रही है। EPI की गणना कई इंडिकेटर्स के जरिए होती है। इसमें क्लाईमेट हेल्थ, जलवायु, वायु प्रदूषण, स्वच्छता और पीने का पानी, इकोसिस्टम से जुड़ी सेवाएं और बायोडायवर्सिटी शामिल हैं।

पर्यावरण हेल्थ कैटेगिरी में भारत की रैंक 172 रही है। यह कैटेगिरी बताती है कि कैसे देश अपनी आबादी को पर्यावरण हेल्थ से जुड़े जोखिमों से बचा रहे हैं।

2020 में EPI में पाकिस्तान से पीछे था भारत
येल यूनिवर्सिटी की ओर से जारी EPI 2020 रिपोर्ट में भारत की रैंक 148 थी। तब भारत EPI में पाकिस्तान से 21 स्थान पिछड़ गया था। EPI 2020 में पाकिस्तान की रैंक 127 थी।

खबरें और भी हैं…



Source link

You can appreciate the effort by Sharing

Leave a Comment